Internet क्या है ?

1
3386

नमस्ते दोस्तों , दुनिया के इस ७.८ अरब के लोकसंख्या में 70 से 80% लोग इंटरनेट का इस्तेमाल करते है, लेकिन उन्हें नहीं पता होता internet kya hai ? | Internet हमारे जीवन का एक महत्त्वपूर्ण हिस्सा बन गया बिना Internet के हम लोग अब अपने जीवन की कल्पना नहीं कर सकते हैं !

हम लोग सब कुछ करने के लिए Internet का उपयोग करते हैं ! चाहे वो मूवी के टिकट बुक करना हो, सबसे अच्छा होटल ढूँढना हो हम हर किसी चीज़ के लिए इंटरनेट का इस्तेमाल करते है ! अब सवाल हमारे मन में आता है कि ये इंटरनेट क्या है ? , इंटरनेट का अविष्कार किसने किया होगा ? , internet और intranet में क्या अंतर है ! तो आपके इसी सारे सवालो का हम आज आसान भाषा में जवाब देने वाले है !

Internet क्या है?

Internet Kya Hai? इंटरनेट एक ऐसी चीज़ है या जाल है जिसे routers और servers के मदद से जुड़ा रहता है ! जिसकी मदत से हम किसी भी Computer को एक दूसरे से जोड़ सकते है ! अगर आसान शब्दों मे कहा जाये तो Internet आदान प्रदान के लिए इस्तेमाल किया जाता है !

दो computer मे जो माध्यम है उसे हम internet कहते है , जिसे TCP /IP Protocol कहा जाता है ! इंटरनेट विश्व का सबसे बड़ा नेटवर्क(network) है।

यह Global network-of -networks है जिसमें लाखों गैर-सार्वजनिक, सार्वजनिक, शैक्षणिक, व्यावसायिक और सरकारी Packet switched किए गए network शामिल है , जो electronic , wireless और optical technologies का एक broad array से जुडे हैं |

Internet का अर्थ हिंदी में

इंटरनेट का मतलब है Interconnected Network है ! इसे हम हिंदी मे अंतर्जाल कह सकते है!  इंटरनेट से कही सरे कम्प्यूटर्स एक दूसरे से जुड़े होते है!

Internet का इतिहास 

आज इंटरनेट पूरी दुनिया पर राज कर रहा है!

आज कल इंटरनेट का उपयोग बहोत बढ़ गया है जो की पहले बहोत कम था।

इंटरनेट की शुरवात किसी अकेले व्यक्ति ने नहीं की थी न विक्सित किया था ! इंटरनेट ये कई researchers & programmers का एक सयुक्त प्रयास था जिस से इंटरनेट(internet) की खोज हुई ! internet की खोज पहले अमेरिका की सेना के लिए की थी! १९६९ मे ARPANET के नाम से एक नेटवर्क बनाया गया था जो की चार कम्प्यूटर्स को जोड़ता था!

१९७२ तक कम्प्यूटर्स जोड़ने की संख्या ३७ हो गयी! धीरे धीरे इसकी संख्या बढ़ती गयी जो की १९७३ मे इंग्लैंड और नॉर्वे तक पोहोच गयी। १९७४ मे ARPANET ने इसे आम इंसानो के लिए बनाना चालू किया!

जिसे उस वक्त Telnet कहते थे! १९८२ मे नेटवर्क के लिए कही नियम बनाये गए जिसे Protocol कहने लगे। जिसे TCP /IP Protocol के नाम से जाना जाता है! १९९० मे ARPANET समाप्त हो गया!

आज हम जो इंटरनेट उसे कर रहे है वह हमें VSNL विदेश संचार निगम लिमिटेड प्रधान करता है!

इंटरनेट का अविष्कार किसने किया?

Nikola Tesla 1900 के दशक की शुरुआत में एक “world wireless system” का विचार लेकर आए थे !
Internet की पहली pratical schematics 1960 के दशक के प्रारंभ तक नहीं आई , जब MIT’s के J.C.R Licklider ने computer के “Intergalactic network” के विचार को लोकप्रिय बनाया |

1970 के दशक में वैज्ञानिक Robert Kahn और Vinton Cerf ने Transmission Control Protocol विक्सित करने के बाद technology का विकास जारी रखा ! 1990 में Computer scientist Tim Berners ने World Wide Web का आविष्कारकिया !

Web ने जनता के बीच internet को लोकप्रिय बनाने में मदद की और जानकारी के विशाल समूह को विकसित करने में एक महत्वपूर्ण कदम के रूप में कार्य किया.

इंटरनेट कैसे काम करता है?

आज कल सभी लोग इंटरनेट इस्तेमाल करते है लेकिन उन्हें ये नहीं पता की इंटरनेट कैसे काम करता है ? तो चलिए जानते है इंटरनेट कैसे काम करता है।

इसे समझने के लिए हमें ये जानना होगा की इसके ३ हिस्से है पेहला जिसे server कहते है जिस मे सारी जानकारी होती है ! दूसरा internet service provider जो आम जनता तक इंटरनेट पोहचाता है (Internet Service Provider) ! और तीसरा PC या mobile जिससे हम इंटरनेट इस्तेमाल करते है|

हम किसी भी Video या image को browse करते है search engine मे तब वो request हमारे Service Provider के पास जाती है ! और वो internet provider के जरिये हमे जानकारी मिलती है। लेकिन ये प्रक्रिया बहोत जल्दी होती है जो की कहि सेकंड मे हमे जानकारी मिलती है!

 Intranet क्या है ?

Intranet ये एक Computer Network है जो Organization के मदद से जानकारी का आदान प्रदान करता है। | Intranet इंटरनेट जैसी ही technology का उपयोग करता है लेकिन ये कंपनी और Educational चीज़ो के अंदर आता है |

Internet vs Intranet

internet vs intranet
                                        Internet VS Intranet

इंटरनेट के प्रकार 

आइए देखें कि internet कितने प्रकार के हैं

1.Wireless Internet
  •  Wireless broadband आपके घर या व्यवसाय पर एक small receiver के बीच एक radio link का उपयोग करके घर या व्यवसाय को Internet से जोड़ता है।
  • Wireless Internet का इस्तेमाल ज्यादा करके लंबी दुरी के क्षेत्र में किया जाता है। जिसे हम Broadband Service कह सकते है। जिस जगह DSL या Cabel Modem service धीमी है, अनुपलब्ध है या फिर मेहेंगी है उन जगह Wireless Internet का इस्तेमाल किया जाता है।
  • Download और upload गति 20mb / s तक है।
2.Wireless DIA(Direct internet access)
  • इस प्रकार के Internet को किसी खास जगह या फिर किसी व्यवसाय को broadband के मदद से दिया जाता है।
  • इसे आप किसी और के साथ share नहीं कर सकते। क्युकी इसमें आप एक Internet Superhighway से जुड़े होते हो। साधारण Internet का उपयोग जो लोग करते है उन्हें बोहोत दिक्कतों का सामना करना पड़ता है क्युकी वो एक local internet को जुड़े होते है जिसे बोहोत सारे लोग इस्तेमाल करते है। पर Direct internet access में ऐसा नहीं होता क्युकी इसमें आप एक Internet Superhighway से जुड़े होते हो।
3.Fibre to the premises
  • इसमें Fiber optic cable सीधे घरोमे और ऑफिसेस में इस्तेमाल किया जाते है! जिसकी मदद से आपको एक स्थिर Internet connection मिल पाए और ज्यादा परेशानियों का सामना ना करना पड़े। Hybrid Copper और Fiber System के तुलना में Fiber optic cable ज्यादा विश्वसनीय होती है।
  • यह 1Gbps तक की broadband speed भी दे सकते हैं, पांच सेकंड में HD TV program download करने के लिए पर्याप्त है।
  •  Fibre future DSL या Cable modem की गति से अधिक गति पर data प्रसारित करता है, आमतौर पर दस से सो mbps तक  विशेष रूप से जब आपके पास FTTP (fibre to the premises ) कनेक्शन होता है, जो किसी और के साथ share नहीं किया जाता है!
4.DSL(Digital Subscriber Line)
  • DSL एक Wired connection है ! जो पहले से ही घरों और व्यवसायों के लिए स्थापित traditional copper telephone lines पर तेजी से डेटा प्रसारित करता है!
  •  DSL -based broadband सौ Kbps से लेकर लाखों bits प्रति सेकंड (Mbps ) तक transmission गति प्रदान करता है !
  • आपकी DSL सेवा की उपलब्धता और गति आपके घर या व्यवसाय से नजदीक telephone company की सुविधा पर निर्भर हो सकती है !
5.Satellite
  • जैसे Satellite पृथ्वी की परिक्रमा करके telephone और television के लिए आवश्यक links प्रदान करता है वैसेही वह Broadband के लिए भी आवश्यक लिंक प्रदान करता है।
  • Satellite की Downstream और Upstream की गति कही कारणों पर निर्भरित होती है। जैसे मौसम , Service Package और आपका Service Provider इन चीज़ो पे आपकी internet की गति निर्भरित होती है। इसमें ग्राहक Download Speed 500 kb और Upload Speed 80 kb तक ही स्पीड की उम्मीद रख सकता है।

6.Dial-Up

  • इंटरनेट डायल आपको याद है? यह analog signal को modem के माध्यम से digital में परिवर्तित हो जाता है और एक सार्वजनिक telephone network द्वारा सेवित land-line पर भेजा जाता है।
  • Telephone line का connection कही बार खराब हो सकता है।
7.Mobile Internet(4G and 5G)
  •  Mobile technology mobile phone के माध्यम से wireless internet आपके पास पोहचाती है।
  • इसमें आपके Internet की गति आपके Service Provider पर निर्भरित होती है। पर इन दिनों 4G बोहोतही लोकप्रिय बन चूका है। और 3G धीरे धीरे काम होने लगा है।
  • 3G लगभग 2 MBPS तक गति मिल जाती है।
  • 4G ये mobile network की चौथी पीढ़ी है जो की 3G से भी Fast है।

Features of Internet

  1.  एक global network जो लाखों computer को जोड़ता है!
  2. Internet विकेंद्रीकृत है!
  3.  इंटरनेट पर हर कंप्यूटर स्वतंत्र है!
  4.  Internet तक पहुंचने के विभिन्न तरीके हैं!

Advantage of Internet:

  • आप किसी भी कोने मे रहे आप कोई भी जानकारी या सूचना कही भी और कभी भी भेज सकते है।
  • आज हम इंटरनेट से Voice Calls , Video Call , Message , E -mail किसी भी प्रकार से एक दूसरे से बातचीत कर सकते है।
  •  एक computer दूसरे Computer में जानकारी का आदान प्रदान करना आसान होगया है।
  •  Internet का उपयोग करके, आप group discussion , जैसे mailing list और newsgroups में भाग ले सकते हैं।
  • यह दुनिया भर की जानकारी उपलब्ध कराता है|
  •  यह आपको नवीनतम समाचार और technologies की जानकारी लेने में मदद करता है।

Disadvantage of Internet

  • Search engine कुछ नकली समाचार परिणाम प्रदर्शित कर सकते हैं।
  •  Hacking के मदद Data चोरी हो सकता है।
  •  Internet पर काम करना  निश्चित रूप से थका देना है।
  •  Internet हमें आलसी बनाता है – जैसे कि सामान्य चीजों के लिए जैसे nearest restaurant की खोज करना या सबसे best hotel खोजना।

Application of internet

  • Program और files download करें !
  • E-mail भेजने और प्राप्त करने के लिए !
  • Voice और Video Conferencing!
  • E-commerce!
  • File sharing करना!

आज क्या सीखा

आजके इस लेख में हमने Internet kya है देखा जिसमे हमने देखा Internet meaning in Hindi, इंटरनेट का इतिहास (History of Internet), इंटरनेट का अविष्कार किसने किया , Intranet क्या है? , इन जैसे सारे सवालोंके आज हमने जवाब देखे।
तो में आशा करती हु Internet की पूरी जानकारी आपको मिल गयी होगी । अगर आज का ये लेख पसंद आया हो तो Share जरूर करे और इस लेख के बारेमे मनमे कुछ सवाल हो तो comment जरूर करे धन्यवाद।

Previous articleCloud Computing क्या हैं ?
Next articleTRP kya hai ?

1 COMMENT

  1. इन्टरनेट आजके ज़माने बहोत उपयोगी है पर साथ में उसके नुकसान भी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here