Home Tags RAM kya hai ?

Tag: RAM kya hai ?

RAM क्या है?

RAM क्या है? हिंदी में RAM को अस्थाय मेमोरी कहा जाता है इसमे किस भी प्रकार का डाटा स्टोर नहीं रहता जा टाक कंप्यूटर ऑन है तब टाक यहाँ डाटा अस्थ्या रूप से स्टोर रहता है। जब हम कंप्यूटर बंद या शटडाउन करती है तब यहाँ डाटा डिलीट हो जाता है। जिसे Volatile memory कहा जाता है।

 

RAM ka full form

RAM ka full form का Random Access Memory है |

RAM ka full form का पूरा नाम Random Access Memory है। इसे Main memory भी कहा जाता है। Computer में यहाँ 4GB ,8GB ,12GB, 16GB  मे पाई जाती है और mobile में 1GB, 2GB, 3GB, 4GB, 6GB, 8GB तक पायी जाती थी लईकिन अब mobile मे भी यहाँ अब 12GB टाक RAM पाई जाती है।

Computer एक Electronic device है। Computer हमारी ज़िन्दगी का एक अहम हिस्सा बन गया है। Office से लेकर schools तक computer का इस्तेमला करती है।  घरो घरो में computer का उपयोग किया जाता है।  लेकिन क्या आपको पता है की computer में RAM का उपयोग क्या है ? उसका use क्यों किया जाता है ? तो चले जानती है RAM के बारे में।

RAM कितने प्रकार की होती है / Types of RAM in Hindi 

RAM के दो प्रकार होते  है –

  • Dynamic RAM
  • Static RAM
  1. Dynamic RAM-

DRAM या डायनामिक रैंडम एक्सेस मेमोरी कहा जाता है। ये एक टाइप की सेमीकंडक्टर मेमोरी है। ये एक टाइप की ram है जो आम तर PCs (Personal Computers), workstation और servers में  use की जाती है।

DRAM मेमोरी डाटा bits से बने होते है जो तवो डायमेंशनल ग्रिड में होती है। DRAM में एक ट्रांजिस्टर और एक कपैसिटर मौजूद होता है जिसे मेमोरी बनती है।  DRAM के bits memory cell में स्टोर करता है।  DRAM स्टोरेज सेल डायनामिक टाइप के होता है जिसके करना उसे refresh होना पड़ता है कही milliseconds के बद।  ताकि वो अच्छी तरह से चल सके।

Characteristics of Dynamic RAM In Hindi
  • इस मेमोरी को हर बार रिफ्रेश करना पड़ता है
  • ये धीमे काम करता है SRAM के तुलना से
  • ये RAM की तरह यूज़ किया जाता है
  • साइज में ये मेमोरी छोटी होती है
  • पावर कोन्सुम्प्शन काम जोटा है
  • महॅगा नहीं है
  1. स्थैतिक ऱम (Static RAM)-

SRAM या स्थैतिक रैंडम एक्सेस मेमोरी(Static Random Access Memory) के नाम से जाना जाता है। इसका refresh rate स्थैतिक रहता है जिसके कारन इसे स्थैतिक ऱम कहा जाता है। इसका रिफ्रेश रेट काम होता है , इस मेमोरी में डाटा तब तक रहता है जब तक इसे पावर सप्लाई (power supply) यानि इलेक्ट्रिसिटी(electricity) मिलती है जब पावर सप्लाई बन हो जाता है डाटा स्टोर होना बन हो जाता है। इस memory को कैश ऱम(Cache memory) भी कहा जाता है।

Characteristics of SRAM In Hindi

  • इसको रिफ्रेश करने की जरुरत नहीं है
  • तेज़ है
  • इसे कैश मेमोरी की तरह यूज़ किया जाता है
  • पावर कोन्सुम्प्शन जायदा है
  • महॅगा है

 

 

 

Related Article